ईयरफोन लगाकर सोया था यात्री, बस में लगी आग; नींद नहीं खुलने से जिंदा जला


जयपुर के दूदू में शनिवार देर रात को चलती बस में आग लग गई। ड्राइवर ने फुर्ती दिखाते हुए यात्रियों को समय से बस से उतार लिया जिससे उनकी जान बच गई। एक यात्री सोता ही रह गया और उसकी जलकर मौत हो गई।

उसका शव कंकाल में बदल गया। मृतक की अभी पहचान नहीं हो पाई है। शव को जयपुर के एसएमएस अस्पताल भेजा गया है। बस जलकर कबाड़ में तब्दील हो गई।




एक निजी यात्री बस जयपुर से उदयपुर जा रही थी। बस में 45 यात्री सवार थे। दूदू में गाड़ोता और मोखमपुरा के बीच बंबोरिया की ढाणी पर ड्राइवर ने इंजन से धुआं निकलता देखा।

यह देखकर उसने बस रोक दी। बस रोकने पर इंजन की ओर से आग की लपटे देख कर ड्राइवर ने शोर मचा दिया और यात्रियों से बस से उतरने को कहा। रात का समय होने के कारण यात्री सोए हुए थे। अचानक हड़बड़ाहट में वे उठे और तेजी से बस से उतर गए।




मिनटों में बस में आग चारों ओर फैल गई। देखते ही देखते बस आग का गोला बन गई। सूचना पर पुलिस व दमकल मौके पर पहुंची। दमकल ने करीब एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।


बस में आग से दोनों तरफ करीब आधा घंटे ट्रैफिक भी बाधित रहा। पुलिस ने वाहनों को दूसरी लेन पर डायवर्ट कर दिया। शुरूआती जांच में सामने आया कि आग शॉर्ट सर्किट से लगी।




एक की नहीं बच पाई जान हादसे में एक यात्री की जान चली गई। आग लगने पर हल्ला व भगदड़ मचने के बाद भी वह सोता ही रह गया। संभव है उसने कान में ईयरफोन लगा रखा हो या गहरी नींद के कारण वह उठ नहीं पाया। जलने से उसका शव कंकाल में बदल गया। आग बुझने व बस ठंडी होने के बाद बस की चैकिंग के दौरान पुलिस को शव का पता चला। अभी मृतक की पहचान नहीं हो पाई है।

No comments